Read, Record and ShareClose
  • इश्कहै वही जो हो एक तरफा;
    इजहार हैइश्कतो ख्वाईश बन जाती है;
    है अगरइश्कतो आँखों में दिखाओ;
    जुबां खोलने से ये नुमाइश बन जाती है।
  • Click on Mic to record