Read, Record and ShareClose
  • ठंड की इस सुबह पड़ेगा हमें नहाना
    क्योंकि संक्रांति का पर्व कर देगा मौसम सुहाना
    कहीं जगह-जगह पतंग है उड़ना
    कहीं गुड़ कहीं तिल के लड्डू मिल कर है खाना
  • Click on Mic to record