52 Good Night Shayari

क़हर है तेरी जुदाई…
पर अपना दिल भी अब पत्थर हो चला है..


जिगर है छलनी-छलनी… आँखें लहू-लहू हैं,
#तेरी जुदाई ने मुझे इस कदर तबाह कर दिया।


जब वादा किया है तो निभाएंगे;

सूरज किरण बन कर छत पर आएंगे;

हम हैं तो जुदाई का ग़म कैसा;

तेरी हर सुबह को फूलों से सजाएंगे


जुदाइयों के ज़ख़्म दर्द-ए-ज़िंदगी ने भर दिए,
तुझे भी नींद आ गई मुझे भी सब्र आ गया।


जुदा हुए हैं बहुत से लोग एक तुम भी सही,
अब इतनी सी बात पे क्या जिंदगी हैरान करें।


वफ़ा की ज़ंज़ीर से डर लगता है,
कुछ अपनी तक़दीर से डर लगता है,
जो मुझे तुझसे जुदा करती है,
हाथ की उस लकीर से डर लगता है।


गज़ल में गीत में दोहे में और रुबाई में,
कहां कहां नही ढूंढा तुझे जुदाई में ।।


हमें तो तेरी जुदाई मार गयी ,
मै तो इश्क की जीती बाज़ी हार गयी.
इतना भी क्या रूठना अपने यार से ,
मनाने की तुम्हे कोशिशे बेकार गयी.


आओ किसी शब मुझे टूट के बिखरता देखो,
मेरी रगों में ज़हर जुदाई का उतरता देखो,
किन किन अदाओं से तुम्हें माँगा है खुदा से,
आओ कभी मुझे सजदों में सिसकता देखो।


तेरी जुदाई भी हमें प्यार करती है,

तेरी याद बहुत बेकरार करती है,

वह दिन जो तेरे साथ गुज़ारे थे,

नज़रें तलाश उनको बार-बार करती हैं.


आपकी आहट दिल को बेकरार करती है,
नज़र तलाश आपको बार-बार करती है,
गिला नहीं जो हम हैं इतने दूर आपसे,
हमारी तो जुदाई भी आपसे प्यार करती है।


दिल से निकली ही नहीं शाम जुदाई वाली,
तुम तो कहते थे बुरा वक़्त गुज़र जाता है।


ऐ चाँद मेरे दोस्त को एक तोहफा देना,
तारों की महफ़िल के सपने दे देना,
छुपा देना तुम अंधेरों को रौशनी से,
इस रात के बाद एक खूबसूरत सवेरा देना।
गुड नाईट।


हर रात मेरा नाम बोल कर सोया करो,
खिड़की खोल तकिया मोड़ के सोया करो,
हम भी आएंगे तुम्हारे ख्यालों में,
इसलिये थोड़ी सी जगह छोड़ के सोया करो।


जब रात तुम्हारी याद आती है,
दूर चाँद में तुम्हारी सूरत नज़र आती है,
ढूँढ़ते हैं हम तुम्हे रात भर अपने आस पास,
ऐसे ही तनहा हर रात गुज़र जाती है
शुभ रात्रि


तेरी साँसों में बिखर जाऊं तो अच्छा है,
बन के रूह तेरे जिस्म मे उतार जाऊं तो अच्छा है,
किसी रात तेरी गोद में सर रख कर सो जाऊं,
उस रात की कभी सुबह ना हो तो अच्छा है!!


रात का चाँद आसमान में निकल आया है,
साथ में तारों की बारात लाया है,
ज़रा आसमान की ओर देखो वो आपको,
मेरी और से Good Night कहने आया है………..!!!


काश कि तु चाँद और मैं सितारा होता;
आसमान में एक आशियाना हमारा होता;
लोग तुम्हे दूर से देखते;
नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता।


जैसे चाँद का काम है रात में रौशनी देना,
तारों का काम है सारी रात चमकते रहना,
दिल का काम है अपनों की याद में धड़कते रहना,
हमारा काम है आपकी सलामती की दुआ करते रहना।


हमे सुलाने के ख़ातिर रात आती है, हम सो नही पाते और रात सो जाती है,
हमने पूँछा दिल से तो ये आवाज़ आयी,आज दोस्त को याद करले रात तो रोज़ आती है..!!


चाँद की चाँदनी से एक पालकी बनायी है,
ये पालकी हम ने तारों से सजाई है,
ऐ हवा ज़रा धीरे-धीरे ही चलना,
मेरे दोस्त को बड़ी प्यारी सी नींद आई है।
शुभरात्रि।


आज आपकी रात की अच्छी शुरुआत हो,
रात भर खूबसूरत सपनो की बरसात हो,
जिन्हें आपकी निगाहे हर वक्त ढूंढती रहती हैं,
खुदा करे आपसे उनकी सपनो में मुलाकात हो।


हमारी हर रात तम्हारे साथ हो,
ओर प्यार मोहब्बत की बात हो,
हम लेले तुम को बाँहों में अपनी,
फिर बताये तुम ही ज़िन्दगी तुम ही हमारी कैनाथ हो,
गुड नाईट डिअर…[email protected]


हम अपनों से खफ़ा हो नहीं सकते
प्यार के रिश्ते बेवफा हो नहीं सकते
तुम हमें भुला कर भले ही सो जाओ
हम तुम्हे याद किये बिना सो नहीं सकते.


हर रात मेरा नाम बोल कर सोया करो, खिड़की खोल तकिया मोड़ के सोया करो,
हम भी आएंगे तुम्हारे ख्यालों में, इसलिये थोड़ी सी जगह छोड़ के सोया करो..!!


ऐसा लगता है कुछ होने जा रहा है,
कोई मीठी सपनो मे खोने जा रहा है,
धीमी कर दे अपनी रोशनी ऐ चाँद,
मेरा कोई अपना सोने जा रहा हैं……….!!!
**Good Night**


चाँद सा चेहरा देखने की इज़ाज़त दे दोमुझे ये शाम सजाने की इज़ाज़त दे दोमुझे कैद कर लो अपने इश्क़ में या फिरमुझे इश्क़ करने की इज़ाज़त दे दो |


काश कि तु चाँद और मैं सितारा होता; आसमान में एक आशियाना हमारा होता; लोग तुम्हे दूर से देखते; नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता।


मिलने आएंगे हम आपसे ख़्वाबों में
ज़रा रोशनी के दिए बुझा दीजिए
अब और नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाक़ात का
ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए
शुभ रात्रि


मिलने आयेंगे हम आपसे ख्वाबों में,
ये ज़रा रौशनी के दिये बुझा दीजिए,
अब नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाकात का,
ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए।
GOOD NIGHT


आज आपकी रात की अच्छी शुरुआत हो, रात भर खूबसूरत सपनो की बरसात हो, जिन्हें आपकी निगाहे हर वक्त ढूंढती रहती हैं, खुदा करे आपसे उनकी सपनो में मुलाकात हो।


हर रात मे भी आपके पास उजाला हो,
हर कोई आपका चाहने वाला हो,
वक़्त गुजर जाये उनकी यादों के सहारे,
ऐसा कोई आप के सपनों को सजाने वाला हो…! शुभ रात्रि!!


सितारों से भरी इस रात में,
जन्नत से भी खूबसूरत ख्वाब आपको आयें,
इतनी हसीन हो ज़िन्दगी आपकी,
मांगने से पहले ही आपकी मुराद पूरी हो जाये।
गुड नाईट।


सो जा ऐ दिल कि अब धुन्ध बहुत है तेरे शहर में,
अपने दिखते नहीं और जो दिखते है वो अपने नहीं..!!


सोचता रहा ये रातभर करवट बदल बदलकर,
जानें वो क्यों बदल गया, मुझको इतना बदलकर ।


हमने ज़िन्दगी बितायी
आँख सिरहाने लेकर,
रात दुल्हन सी आयी
सपने सुहाने लेकर…


ठंडी-ठंडी भीगी रातों में ,
जब हवा का झोंका आता है ,
ए चाँद हमको तेरी क़सम ,
उनका चेहरा याद दिलाता है


तेरे बिना कैसे गुजरेंगी ये रातें,
तन्हाई का गम कैसे सहेंगी ये रातें,
बहुत लम्बी है घड़ियां इंतजार की,
करवट बदल-बदल कर कटेंगी ये रातें।
शुभ रात्रि…


रात को जब चाँद सितारे चमकते हैं,
हम हरदम आपकी याद में तड़पते हैं,
आप तो चले जाते हो छोड़कर हमें,
हम रात भर आपसे मिलने को तरसते हैं।


मोमबत्तिया नहीं जलती लाइट के बिना,
चाँद नहीं चमकता है नाईट के बिना,
तो हम कैसे सो सकते है,
आपको गुड नाईट कहे बिना…
Good Night!


बीता हुआ कल बदला नहीं जा सकता,
लेकिन आने वाला कल हमेशा आपके हाथ में होता है!
शुभ रात्रि


तन्हा मौसम है और उदास ‪‎रात‬ है
वो मिल के बिछड़ गये ये ‪‎कैसी मुलाक़ात‬ है,
दिल धड़क तो रहा है मगर ‎आवाज़‬ नही है,
वो धड़कन भी साथ ले गये ‎कितनी अजीब‬ बात है!


तेरी क़सम अभी तक सोये नहीं है हम
रोने का दिल करता है मगर रोये नहीं है हम
याद भी न आएं तुम्हारी और सो जाएँ हम
इतने बेवफा अभी तक हुए नहीं है हम


चाँद सा चेहरा देखने की इज़ाज़त दे दो
मुझे ये शाम सजाने की इज़ाज़त दे दो
मुझे कैद कर लो अपने इश्क़ में या फिर
मुझे इश्क़ करने की इज़ाज़त दे दो


रात के सन्नाटे में, चाँद की तन्हाई को
भला किसने समझा भला कौन समझे


हमारी हर रात तम्हारे साथ हो,
ओर प्यार मोहब्बत की बात हो,
हम लेले तुम को बाँहों में अपनी,
फिर बताये तुम ही ज़िन्दगी तुम ही हमारी कैनाथ हो,
गुड नाईट डिअर….!!


हर रात मेरा नाम बोल कर सोया करो,
खिड़की खोल तकिया मोड़ के सोया करो,
हम भी आएंगे तुम्हारे ख्यालों में,
इसलिये थोड़ी सी जगह छोड़ के सोया करो।


काश कि तु चाँद और मैं सितारा होता;
आसमान में एक आशियाना हमारा होता;
लोग तुम्हे दूर से देखते;
नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता।


हम आपको कभी खोने नहीं देंगे
जुदा होना चाहो तो भी होने नहीं देंगे
चांदनी रातों में जब आएगी मेरी याद
मेरी याद के वो पल आपको सोने नहीं देंगे
गुड नाईट


इस गहरी रात में उनकी
याद का झोंका फिर आ गया,
हैं खुशनसीब हम बहुत कि
ख़्वाबों में उनसे मिलने का मौका फिर आ गया।


मिलने आयेंगे हम आपसे ख्वाबों में,
ये ज़रा रौशनी के दिये बुझा दीजिए,
अब नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाकात का,
ज़रा अपनी आँखों के परदे तो गिरा दीजिए।


आज आपकी रात की अच्छी शुरुआत हो,
रात भर खूबसूरत सपनो की बरसात हो,
जिन्हें आपकी निगाहे हर वक्त ढूंढती रहती हैं,
खुदा करे आपसे उनकी सपनो में मुलाकात हो।

Leave a Comment