158 Funny Shayari

मटर पनीर समझ कर दोस्त बनाए थे ..
साले सब के सब टिंडे निकले..!!


काश प्यार का इन्श्योरेंस करवाया जाता
प्यार करने से पहले प्रीमियम भरवाया जाता
प्यार में वफ़ा मिली तो ठीक वर्ना
जो खर्चा होता उसका क्लेम दिलवाया जाता


प्यार-मोहब्बत की बस इतनी सी कहानी है,
इक टूटी हुई कश्ती और ठहरा हुआ पानी है,
इक फूल जो किताबों में कहीं दम तोड़ चुका है,
कुछ याद नहीं आता किसकी निशानी है।


चाँदनी रात में नज़र तो सबकुछ आता है ग़ालिब,
बस मट्टी और टट्टी में फ़र्क नज़र नहीं आता।


मोहब्बत करते हैं लोग बड़े शोर के साथ,
हमने भी बड़े जोर के साथ,
लेकिन अब करेंगे थोड़ा गौर के साथ,
क्योंकि कल उसे देखा है किसी और के साथ।


मेरे दोस्त तुम भी लिखा करो शायरी
तुम्हारा भी मेरी तरह नाम हो जाएगा
जब तुम पर भी पड़ेंगे अंडे और टमाटर
तो शाम की सब्जी का इंतज़ाम हो जाएगा…


तुझे पाने के लिए मैं कुछ भी कर सकता हूँ,
तेरे प्यार में मैं जी तो क्या मर भी सकता हूँ,
फिर भी अगर तू नहीं मिली मुझे तो कोई ग़म नहीं ए पगली,
ये फार्मूला किसी दूसरी लड़की पर सेट कर सकता हूँ !!


Mohabbat के खर्चे की बड़ी लम्बी Kahaani हैं,
कभी Film दिखानी हैं तो कभी Shopping करनी हैं,
Masterji हररोज कहते हैं कहा हैं मेरे पैसे,
उसे में कैसे समझाऊ की मुझे भी Ladki पटानी हैं।


पगली तू क्या तेरी सहेली भी हमारी फोटो देखकर कंफ्यूज हो जाती है…
की, पहले लाइक करू या सेव


खून में तेरे मिट्टी, मिट्टी में तेरा खून..
ऊपर सूरज, नीचे डामर, बीच में मई और जून।


इस दुनिया में लाखों लोग रहते हैं
कोई हँसता है तो कोई रोता है
पर सबसे सुखी वही होता है
जो शाम को दो पैग मार के सोता है.


अर्ज़ किया है उंगली में अंगूठी और अंगूठी में नगीना,
New year पे तोहफे न दे वो सबसे बड़ा कमीना।


क्यों किसी की यादों में रोया जाए,
क्यों किसी के ख्यालों में खोया जाए,
वाहर ठंड बहुत ज्यादा है,
क्यों न रजाई तानकर सोया जाए।


मीठी मीठी यादों को पलकों पे सजा लेना,
साथ गुज़रे लम्हों को दिल में बसा लेना,
मैं तो बरसों का प्यासा हूँ, ‘फराज़’,
बिजली आ जाये तो याद से मोटर चला देना।


न वक्त इतना है कि सिलेबस पूरा किया जाए,
न तरकीब कोई कि एग्जाम पास किया जाए,
न जाने कौन सा दर्द दिया है इस पढ़ाई ने,
न रोया जाए और न सोया जाए।


मासूम सी मुहब्बत का फ़राज़
बस इतना सा फ़साना है..
अम्मी घर से निकलने नहीं देती
और मुझी डेट पर जाना है।


फ़ोन मेरी ज़िन्दगी का एक अहम् हिस्सा बन गया
फ़ोन पर मिली तू मुझे और प्यार का एक नया किस्सा बन गया
होती थी रोज मुलाकाते फ़ोन पर हमारी
तू मेरे दिल कि रानी मैं तेरे दिल का रजा बन गया


आज तुझ पर आंसुओं की बरसात होगी,
फिर वही अँधेरी काली रात होगी,
याद ना करके मुझे तूने दिल दुखाया हैं बहुत मेरा,
जा तेरे पुरे शरीर में खुजली सारी रात होगी !!


कौन ‘कमबख्त’ कहता है, लड़के सोचते कम हैं
.
.
.
.
.
.
.
.
लड़की एक बार मुस्करा कर तो देखे
शेरवानी के रंग से लेकर बच्चों तक के नाम सोच लेते
हैं।


जुल्फों में फूलों को सजा के आयी,
चेहरे से दुपट्टा उठा के आयी,
किसी ने पूछा आज बड़ी खुबसूरत लग रही है,
हमने कहा शायद आज नहा के आयी…..!!!!!!!!!!!!


तू 😂सवाल नहीं एक😂 पहेली है,
मेरी मंजिल😂 तू नहीं तेरी सहेली😂 है।।😍


सोचती हूं यहाँ से भाग जाऊ पर कुछ लोग इतने बुरे भी नहीं …
जितने दिखते और मुझे लगते है इसलिए सोचती ना जाऊं रहूँ यही


मेरे इश्क की बाॅलिंग ने उसके दिल का विकेट गिरा दिया पर तकदीर तो देखो… उसका बाप अंपायर था! मेरी बाॅल को ‘ नो बाॅल ’ देकर ‘ फ्री हिट ’ बना दिया!!


वो दोस्त उम्र भर क्या साथ देंगे जिन्होने..
चौराहे पर पुलिस देखकर बाइक से उतार दिया।


मोहब्बत में भी यारों वो तो कमाल कर गई,
लिख कर i love you वो send to all कर गई।


उसने हाथो पर मेहदी लगा रक्खी थी
हमने भी अपनी बारात सजा रक्खी थी
क्युकी हमे मालूम था वो बेवफा निकले गी
इसलिए हमने उसकी शेली पटा रक्खी थी


अर्ज़ किया है…
बेइज़्ज़ती और बीवी अजीब चीज़ होती है,
गौर फरमाइएगा…
बेइज़्ज़ती और बीवी अजीब चीज़ होती है,
अच्छी तभी लगती है जब दूसरे की होती है।


सितारों में आप, हवाओ में आप,
फिज़ाओ में आप, बहरो में आप,
धूप में आप, चाओं में आप,
सच ही सुना है कि….
बुरी आत्माओं का कोई ठिकाना नहीं होता।


प्यार मोहब्बत तो सब धोखा है,
पढ़ाई कर लो बेटा अभी मौका है।


मेरी ख़ुशी के लम्हे इस कदर
मुख़्तसर हैं फ़राज़,
अभी मुजरा शुरू ही हुआ था
के छापा पड़ गया।


तुम्हे जब देखा हमने तो यह ख्याल आया
बड़ी जल्दी में रब था जब तुमको बनाया

तुम्हे जब देखा रब ने तो वो भी घबराया
बनाना क्या था मुझको है मैंने क्या बनाया


यहाँ खुदा है, वहां खुदा है, आस-पास हर जगह खुदा ही खुदा है,
और जहाँ खुदा नहीं है, वहां कल जरूर खुदेगा “गड्ढा ” !!


मैं भी तेरे ईश्क में आतंकवादी बन जाऊं,
तुझे बांहो में ले के बम से उड़ जाऊ 😛


हंसी के लिए गम कुर्बान
ख़ुशी के लिए आंसू कुर्बान,
दोस्त के लिए जान भी कुर्बान,
और अगर दोस्त की गर्लफ्रेंड मिल जाए तो,
साला दोस्त ही कुर्बान……!!!!!


पहले उसने साड़ी उतारी,
फिर आई पेटीकोट की बारी,
फिर दिया ब्लाउज उतार,
ज्यादा खुश मत हो यार,
थी यह एक कपड़े सुखाने की तार।।😎😉


तकलीफ क्या सुनाए दोस्तो को
साले बीच में ही हस देते है😒😏


र्ज किया है… वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक को यूं ना पीटो… जरा गौर फरमाइये… वो कहती अपने भाइयों से, मेरे आशिक को यूं ना पीटो… बड़ा जिद्दी है ये कमीना, पहले कुत्तो की तरह घसीटो!!


एयरफोर्स में जाना था, दोस्तों..
पर जिंदगी रास्ते बदल कर, मैनफोर्स में घुस गई।


ये मोहब्बत नही उसूल-ऐ -वफा है ऐ दोस्त
हम जान तो देदेंगे मगर जान का नोम्बर नही देंगे


जब मैं दरबाजा खोलने गई और मैने दरबाजा खोला,
तब आपके चहरे पर हँसी, आंखों में आँसू और दिल मे बेबसी थी,
तो फिर आपने पहले क्यों नही बताया आपकी उंगली दरबाजे में फंसी थी।


इश्क को सर का दर्द कहने वाले सुन,
हमने तो ये दर्द अपने सर ले लिया,
हमारी निगाहों से बचकर वो कहाँ जायेंगे,
हमने उनके मोहल्ले में ही घर ले लिया।


अर्ज़ किया है…
कि बहार आने से पहले खिज़ां आ गई,
और फूल खिलने से पहले बकरी खा गई।


मीठी मीठी यादों को पलकों पे सजा लेना,
साथ गुज़रे लम्हों को दिल में बसा लेना,
मैं तो बरसों का प्यासा हूँ, ‘फराज़’,
बिजली आ जाये तो याद से मोटर चला देना।


चाँदनी चौक का नज़ारा ना होता,
India Gate का सितारा ना होता,
आज कल की लड़किया fashion ना करती,
तो हर गली का लड़का आवारा ना होता.


इश्क़ कर लिया मैंने तुमसे बहुत सोचने के बाद,
अब किसी और को नहीं देखना मैंने तुझे देखने के बाद,
दुनिया छोड़ दूंगा तुझे पाने के बाद,
भगवान माफ़ करे मुझे इतना बड़ा झूठ बोलने के बाद !!


कभी कभी ऐसी लडकी से शादी हो जाती है,
जिसे लडका खुद सात जन्म तक नहीं पटा सकता 😛


दूर से देखा तो एक शेर था
दूर से देखा तो एक शेर था
दूर से देखा तो एक शेर था
इसलिए तो पास गया ही नहीं…………


हम हम हैं तुम तुम हो,
ना तुम कम हो ना हम कम हैं।
तो किस बात का गम है SMS भेजते रहो,
तभी तो लगेगा कि मोबाइल वाली में दम है।।😎


ठंड में अगर लाइट की जगह पंखे का बटन दब जाएं तो …
तो सारे घर वालें ऐसे देखते हैं जैसे मैं कोई कॉंग्रेसी हुं …


क्या बताए गालिब… वो गुस्से में भी हम पे रहम कर गई!! लगाया कस के चांटा… और सर्दी में भी गाल गरम कर गई।


दुनिया के सारे झूठ एक तरफ,
ऊपर-ऊपर से करूँगा वाला झूठ एक तरफ। ?


हालातों ने तोड़ दिया हमें कच्चे धागो की तरह
वरना हमारे वादे भी कभी जंजीर हुआ करते थे


हटालो अपने चेहरे से ये जुल्फे –ऐ – जाने –तमन्ना
खुदा कसम अल्ली बार खाने में बाल आया तो सजनी से गजनी बना डोंगा


आज-कल तुम मुस्कुराती बहुत हो,
मेरे दिल को भाती बहुत हो,
दिल करता है ले जाऊँ तुम्हे डिनर पर,
पर सुना है तुम खाती बहुत हो।


वो मुझसे जुदा हो गई उसकी जुदाई ने मार डाला है,
मेरा कलेजा उस बेवफा ने फाड़ डाला है,
मैंने अपने सभी अरमानो को गाड़ डाला है,
कभी मेरे घर पे आना मेरी अम्मा ने अचार डाला है।


चाँद को तोड़ दूंगा… सूरज को फोड़ दूंगा…
तू एक बार हाँ कर दे पहले वाली को छोड़ दूंगा।


रंग और नूर से भरी शाम हो आपकी,
चाँद सितारों से ज्यादा शान हो आपकी,
इस ज़िन्दगी में बस एक ही आरजू है हमारी,
कि बंदर से ऊँची छलांग हो आपकी।


नजर न लग जाये आँखों में काजल लगा लो,
हम कहते हैं आँखों में काजल ही नहीं,
हो सके तो…
गले में नीबू मिर्ची चप्पल भी लटका लो,


तुम्हारी याद दिल से जाने नहीं देंगे,
तुम्हारे जैसा दोस्त खोने भी नहीं देंगे,
रोज़ शराफ़त से SMS किया करो वरना ……,
एक कान क नीचे देंगे ओर रोने भी नहीं देंगे…


पगली प्यार दिखाएगी तो प्यार पाएगी
एट्टीटुड दिखाएगी तो थप्पड खाएगी..


मेरे दोस्त तुम भी करा करो श्यायरी
तुम्हारा भी नाम होगा
जब तुमपर भी पड़ेंगे अंडे और टमाटर
तो शाम की सब्जी का इंतजाम होगा


आज आप “जिगर” भी मांगोगे तो हम दे देंगे,
दिल भी मांगोगे तो दे देंगे,
रोटी कपड़ा और मकान भी दे देंगे,
तीनों फिल्मों की CD है आकर ले जाना।।


लौट कर वो दीवाने नही आये… वादा करके निभाने नही आये…
भरी बाल्टी ताकती रही राह…. उनकी वो बेदर्द नहाने नही आये…


हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है… हीर रो-रो कर रांझे से कह रही है… . . हाथ छोड़ कमीने मेरी नाक बह रही है!!


प्यार की गहराई का पता तब चलता है,
जब बिस्तर पर लड़की पूछ ले.. पूरा चला गया क्या? ?


तोहमतें तो रोज़ लगती थी नई नई हम पर
मगर जो सब से हँसी इलज़ाम था वो तेरा नाम था


जिस प्रकार पाप का घड़ा भरते ही मिर्त्यु हो जाती है
उसी प्रकार खुशियों का घड़ा भरते ही शादी हो जाती है


मोहब्बत हो गई है डाकू सुल्ताना के बेटी से !
न जाने किस गली में ज़िन्दगी की शाम हो जाये !!


बागों के सारे फूल गिर जातें है जब तू आती है,
अंधी है क्या देख कर चला कर गमलो से क्यों टकराती है।


जितने भी लड़के लगाते हैं
तेरी गली की गेरियां,
मुहं पर थूक जाएँ अगर देख ले
तेरी फटी हुई एड़ियाँ।


दोस्ती बुरी हो तो होने उसे मत दो,
अगर हो गयी तो उसे खोने मत दो,
और अगर दोस्त हो सबसे प्यारा तो,
उसे चैन की नींद सोने मत दो।


इश्क में हम तुम्हें क्या बताएं
किस कदर चोट खाए हुए हैं,
मारा था बाप ने कल उसके,
आज भाई आये हुए हैं।


जब तिरछी नजरों से उन्होंने हमको देखा,
तो हम मदहोश हो गए
जब पता लगा उनकी नज़रें ही तिरछी हैं
तो हम बेहोश हो गए।


जब जब नींद आती हे तो ख्वाब आते है
जब जब ख्वाब आते हे तो ख्वाबो मे आप आते है
ओर जब आपके साथ आपके बाप नज़र आते है….
तो ना नींद आती हे ओर ना ख्वाब आते है.


देखा है तेरे आगे,
शरमा कर फूलों को मुरझाते,
ए पूरी दुनिया को घायल करने वाले,
तुम क्यों नहीं रोज नहाते !!


अपनी इंडिया में सरकार हो या शादी,
सबको एक साल में खुश खबरी चाहिए..।


जिंदगी लम्बी है सदा मुस्कुराते रहो
हर कदम पे दोस्त बनाते रहो
दिल मिले ना मिले हाथ मिलाते रहो
ताज महल बनाना तो बहुत कॉस्टली है
पर…….?????
हर गली में कोई ना कोई मुमताज बनाते रहो


चांदी की दीवार न तोड़ी,
प्यार भरा दिल तोड़ दिया।
कुछ पैसों की खातिर तुमने जालिम,
SMS करना छोड़ दिया।।💔


माना, मुझे गुस्सा बहुत आता है…. तो?
मान लिया करो ना….. तुम्हारा क्या जाता है…


हमारे ऐतबार की हद ना पूछ ग़ालिब…. उसने दिन को रात कहा…. और हमने पैग बना लिया।


इस गर्मी की वजह से हालात ऐसे हो गये हैं कि ..
आजकल तजुरबा लिखा हुआ भी पड़ने में तरबूजा ही आता है। ?


सितम ढाने की भी हद होती है
पास ना आने और रूठ जाने की भी हद होती है
एक डेट तो कर ले जालिम
पैसा बचाने की भी हद होती है


मीठा शहद बनाने वाली मधुमक्खी
भी डंख मारने से नहीं चुकती
इसलिए होंशियार रहें,
बहुत मीठा बोलने वाले भी
‘हनी’ नहीं ‘हानि’ दे सकते है……….!!!


मैंने अपने खवाहिशो को दिवार में चुनवा दिया
खामियाँ ज़िन्दगी में अनारकली बनके नाच रही थी


जब घी सीधी उंगली से न निकले तो घी का डिब्बा गरम करलें !
हर चीज़ में ऊँगली डालना ज़रूरी नहीं होता !!


अर्ज किया है…
हटा लो अपने चेहरे से ये जुल्फे
ऐ जाने तमन्ना…. खुदा कसम…
अगली बार खाने में बाल आया तो
सजनी से गजनी बना दूंगा।


जब दरवाजा खोलने गये तो चेहरे पर हसी थी,
दरवाजा खोला तो आँखों में आँसू दिल में बेबसी थी,
ज्यादा मत सोच पगले,
मेरी ऊँगली दरवाजे में फंसी थी,


हम तनहा ही चले थे ज़िंदगी का दही जमाने,
बूंदियां मिलती गयीं… रायता बनता गया।


हज़ारो की किस्मत तेरे हाथ थी
अगर पास कर देता तो क्या बात थी?
God:
गर्लफ्रेंड थोड़ी कम बनता तो क्या बात थी?
किताबे तो सारी तेरे पास थी !!


हसीनों से निगाहें मिलने से अट्रैक्शन भी हो सकता है,
चढ़ जाए बुखार अगर इश्क़ का तो एक्शन भी हो सकता है,
इन हसीनो को तुम मुसीबत समझकर इनसे दूर ही रहना,
ये इंग्लिश दवाइयाँ है इनसे रिएक्शन भी हो सकता है !!


पत्नी अर्धांगिनी होती है,
इसलिए उसे आधी जानकारी ही दें, जीवन के आधे कष्ट कम हो जायेंगे


तेरी जिंदगी में कोई गम ना हो
तेरी आँखें कभी नम ना हों
दुआ है मेरी, तुझें मिले ऐसी दुल्हन
जिसका वजन 150 किल्लो से कम ना हो


दुआ करता हूं अब एक ही रब से,
दूल्हा तुम्हें मिले अच्छा सबसे।
हर चोट पर तुझे नानी याद आए,
ऐसा बढ़िया तुझे ससुराल मिले।।


फर्नीचर की दुकान से गुजर रहा था….
डबल बेड देखा तो आंखें भर आईं……!!!


​फ़िज़ाओं के बदलने का इंतजार मत कर!! आँधियों के रुकने का इंतजार मत कर!! ​पकड़ किसी को और फरार हो जा!! ​पापा की पसंद का इंतजार मत कर!!


कितना ही जानलेवा फिगर क्यों न हो तेरा.. पर सुन पगली,
ईतना मत ईतरा हमारी तारीफ के बीना सब अधूरा है।


दोस्ती बुरी हो तो उसे होने मत दो
अगर हो गई तो उसे खोने मत दो
और अगर दोस्त है सबसे प्यारा तो
उसे चैन की नींद सोने मत दो


आदमी कभी भी इतना झूठा नहीं होता,
अगर औरतें इतने सवाल न करती………!!!


दिल के अरमान आँसुओ मे बह गये,
हम गली मे थे और गली मे ही रह गये,
अपनी तो किस्मत ही खराब थी की लाइट चली गई
जो बात उसे कहनी थी वो उसकी मम्मी से कह गये


उसने कहा कि मुझे मोहब्बत की सजा दो !
मैंने जाके सब कुछ उसकी मम्मी को बता दिया !!


यारों हम उन्हें मुड़ मुड़ कर देखते रहे,
और वो हमें मुड़ मुड़ कर देखते रहे,
वो हमें, हम उन्हें, वो हमें, हम उन्हें, वो हमें,
क्योंकि परीक्षा में न उन्हें कुछ आता था न हमे।


अर्ज किया है…
तेरे चेहरे पर उदासी, आँखों में नमी है,
तेरे चेहरे पर उदासी, आँखों में नमी है,
टाटा नमक इस्तेमाल करो,
क्योंकि तुम में आयोडीन की कमी है।


अर्ज किया है…
खिड़की से झाँक के देखा तो रास्ते में कोई नहीं था,
खिड़की से झाँक के देखा तो रास्ते में कोई नहीं था,
वाह वाह… फिर रास्ते में जा कर देखा…
तो खिड़की पर कोई नहीं था।


कुछ बोलूं तो इतराते बहुत हो,
जानेमन तुम मुस्कुराते बहुत हो,
मन करता है तुम्हे दावत पर बुलाऊँ,
लेकिन जानेमन तुम खाते बहुत हो।


काश हमारा भी कोई रश्के-क़मर होता,
हम भी नजर मिलाते हमें भी मज़ा आता।


ऐसे वक्त गुजर गया SMS करते हुए तेरे प्यार में ,
होश ही नहीं रहा कि मैं बैठा हूँ क्लास में ,
पीछे मुड़ कर देखा तो टीचर खड़ी थी पास में……..


वो इश्क़ मे यारो कमाल कर बैठी
लिख कर “I love you” send to all कर बैठी 😛


पलकों पे अपनी बैठाया है तुम्हें
बड़ी दुआ के बाद पाया है तुम्हें
आसानी से नहीं मिले हो आप
नेशनल जियोग्राफिक पार्क से चुराया है तुम्हें


सावन आते ही मुरझाए फूल भी खिल जाते हैं,
SMS फ्री क्या हुए तुम जैसे
फोकट में शायर बन जाते हैं।।


Work From Home को फॉलो करते हुए काम वाली बाई का वीडियो कॉल
आया था, बोली साहब मैं जैसे जैसे बताऊं वैसे वैसे पोछा मारते जाना।


मेरे दोस्त तुम भी लिखा करो शायरी… तुम्हारा भी मेरी तरह नाम हो जाएगा… जब तुम पर भी पड़ेंगे अंडे और टमाटर…. ​तो शाम की…


अपने दिल में रहने दो ना मुझे,
कसम से बाहर बहुत गर्मी है..!! ?


ना रखो ज़रूरत सितारों की
ना खुवाइश रखो फालतू यारों की
बस एक दोस्त रखो हमारे जैसा
जो वाट लगा दे हजारों की


लगी है मेहंदी पावँ में क्या घूमोगे गावं मे,
असर धूप का क्या जाने जो रहते है छावं मे……!!!


ये जो लड़कियों के बाल होते हैं,
लड़कों को फ़साने का जाल होते हैं,
खून चूस लेती हैं लड़कों का सारा,
तभी तो इनके होंठ लाल होते हैं।


काश दिलों के भी इलेक्शन होते !
मैं धांधली करके तुम्हे जीत लेता !!


तूम बहुत खूबसूरत हो आंखों में काजल लगाया करो,
मैं तो कहता हूँ आंखों में काजल ही नही,
गले मे नीबू मिर्ची और चप्पल भी लटकाया करो।


तेरे ग़म में तड़प कर मर जायेंगे,
मर गए तो तेरा नाम ले जायेंगे,
रिश्वत देकर तुझे भी बुलायेंगे,
तुम ऊपर आओगे तो साथ बैठकर कुरकुरे खायेंगे।


कभी मुर्गा तो कभी बत्तख बना देता है,
पता नहीं ये मास्टर मुझसे किस बात का बदला लेता है।


जब हम उनके घर गए…
कहने दिल से दिल लगा लो,
उनकी माँ ने खोला दरवाजा,
हम घवरा के बोले..
आंटी बच्चो को पोलियो ड्राप पिलवा लो।


बादल हो या बियर का नशा… अचानक से छा ही जाता है…
प्यार हो या चेहरे पे पिंपल…सबकी नज़र मे आ ही जाता है..
दाँत का दर्द हो या गर्ल फ्रेंड की शादी, आँखो मे आँसू आ ही जाते है……


यहां खुदा है, वहां खुदा है, आस पास खुदा ही खुदा है,
और जहां खुदा नहीं है, वहां कल खुदेगा ।


अर्ज़ किया है…
वो कहती अपने भाइयों से,
मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो,
ज़रा गौर फरमाइये…
वो कहती अपने भाइयों से,
मेरे आशिक़ को यूँ ना पीटो,
बड़ा ज़िद्दी है ये कमीना,
पहले कुत्ते की तरह घसीटो।


रब से आपकी खुशी मांगते हैं,
दुआओं में आपकी खुशी मांगते हैं।
सोचते हैं कि क्या मांगे आपसे,
चलो आपकी उमर भर की दोस्ती मांगते हैं।।👌


नाम तेरा कुछ ऐसे लिख चुके है अपने वजूद पर,
कि तेरे नाम की दूसरी भी मिल जाए तो उसको भी पटा लेंगे..!!


बहुत खूबसूरत हो तुम… खुद को दुनिया की बुरी नजरों से बचाया करों सिर्फ आंखों में काजल ही काफी नहीं… गले में नींबू, मिर्च और चप्पल भी लटकाया करों!!


प्यार एक झटके में हो जाता है पर उसे..
पूरा करने के लिए बहुत सारे झटके लगाने पड़ते हैं। ?


फिजा में महकती शाम हो तुम
प्यार का पहला जाम हो तुम
और क्या कहें सनम तेरे बारे में
खर्चे का दूसरा नाम हो तुम


गरीबी आदमियों के कपडे उतार लेती है,
और अमीरी औरतों के……!!!


आप दिल पर न मेरे यूँ वार कीजिये,
छोड़ो ये नफरत थोड़ा प्यार कीजिये,
करवा देंगे हम आपकी अच्छी जगह शादी,
तब तक हमारे साथ आँखें चार कीजिये


हम इश्क़ में कमाल करते हैं !
I Love U लिखकर Send To All करते हैं !!


वो कहती है अपने भाइयों से,
मेरा आशिक है इसे यूँ न पीटो,
बड़ा ज़िद्दी है ये कमीना पहले इसे कुत्ते की तरह घसीटो।


अर्ज किया है…
खिड़की से झाँक के देखा तो रास्ते में कोई नहीं था,
खिड़की से झाँक के देखा तो रास्ते में कोई नहीं था,
वाह वाह… फिर रास्ते में जा कर देखा…
तो खिड़की पर कोई नहीं था।


दोस्तो हम उन्हें मुड़ मुड़कर देखते रहे,
और वो हमें मुड़-मुड़ कर देखते रहे,
वो हमें हम उन्हें, वो हमें हम उन्हें,
क्योंकि परीक्षा में न उन्हें कुछ आता था न हमे।


तुम्हें क्या पता गम क्या होता है,
तुम्हें क्या पता गम किसे कहते हैं,
तुम्हें क्या पता गम क्या चीज है,
क्यूंकि…
तुमने तो हमेशा थूक से चिपकाया है!


खुद का बच्चा रोये तो दिल में दर्द होता है,
किसी और का रोये तो सर में दर्द होता है,
खुद की बीवी रोये तो भी सर में दर्द होता है,
किसी और की रोये तो दिल में दर्द होता है।


शादी एक ऐसा मिलन है…
जो अच्छे मित्रों की तरह रहने के इरादे से शुरू किया जाता है
और दिन-ब-दिन ये इरादे बदलते जाते हैं।


खिड़की से देखा तो गली में कोई नहीं था,
खिड़की से देखा तो गली में कोई नहीं था,
और
फिर जब गली में जाकर देखा तो खिड़की में कोई नहीं था !!!


1) जिंदगी में सिर्फ ‘पाना’ ही सबकुछ नहीं
होता, उसके साथ नट-बोल्ट भी चाहिए ।


आपकी सूरत मेरे दिल में ऐसे बस गयी है
जैसे छोटे से दरवाजे में भैंस फंस गयी है..।


जब दीप जले आना,
जब शाम ढले आना,
पता नहीं मिले तो वापस चले जाना।।


कैसे बताऊं मेरी ज़िन्दगी में तेरा क्या मोल हैं,
मेरे बुखार-ऐ-इश्क़ का तू ही पैरासिटामोल हैं..!


गर्लफ्रेन्ड को अपनी पलकों पर बैठा लो देकर खुशी उसके सारे गम चुरा लो प्यार करो उसकी सहेली के सामने इतना कि उसकी सहेली भी कहे… जानू मुझे भी फसा लो..


सितम ढाने की हद होती है,
पास ना आने की रूठ जाने की हद होती है,
एक SMS तो कर दे जालिम,
पैसे बचाने की भी हद होती है! ?


प्यार एक सदमा है धोंको की रवानी है
ज़िन्दगी और कुछ नहीं
बस एक्स और next की कहानी है


लोग रोज नसें काटते हैं,
प्यार साबित करने के लिये,
पर कोई, सूई भी नही चुभने देता,
“रक्तदान” करने के लिये………!!!


हज़ारों ख्वाहिशें ऐसी, कि हर ख्वाहिश पे Rum निकले,
जी भर के कभी ना पी पाया, क्योंकि जेब में पैसे कम निकले


आज वो अपनी ज़ुल्फ़ों में फूल लगा कर आई है,
ऐसा लगता है कोई हूर उतर आई है,
किसी ने कहा बहुत खूबसूरत लग रही हो,
मैंने कहा लगता है आज नहा कर आई है।


ए खूबसूरत हसीना,
तू सिर्फ सवाल नहीं एक पहेली है,
और जिसपे हम लाइन मारते हैं,
वो तू नहीं तेरी सहेली है।


आप दिल पर न मेरे यूँ वार कीजिये,
छोड़ के नफरत थोड़ा प्यार कीजिये,
करवा देंगे हम आपकी अच्छी जगह शादी,
तब तक हमारे साथ आँखें चार कीजिये।


नींद आती है तो एक ख्वाब आता है,
ख्वाब में इक लड़की आती है,
और पीछे उसका बाप आता है,
फिर क्या…
फिर न नींद आती है न ख्वाब आता है।


आज कुछ शर्माए से लगते हो,
सर्दी के कारण कपकपए से लगते हो,
चेहरा आपका खिलखिलाये सा लगता है,
हफ्ते के बाद नहाए से लगते हो।


धोखा मिला जब प्यार में;
ज़िंदगी में उदासी छा गयी;
सोचा था छोड़ दें इस राह को;
कम्बख़त मोहल्ले में दूसरी आ गयी!


छोड़ दिए हैं वो सारे काम जिनके गलत होते थे अंजाम,
अब कुछ हफ्ते नेक कामों में बिताऊंगा,
और ग्रेजुएशन करने के बाद,
एक नई लड़की पटाऊंगा !!


हसीनों से मिलें नज़रें अट्रैक्शन हो भी सकता है,
चढ़े फीवर मोहब्बत का तो एक्शन हो भी सकता है,
हसीनों को मुसीबत तुम समझ कर दूर ही रहना,
ये अंग्रेजी दवाएं हैं रिएक्शन हो भी सकता है..!! 😛


देखकर मेरी आँखें एक फकीर कहने लगा,

पलकें तुम्हारी नाज़ुक है,

खवाबों का वज़न कम कीजिये…!


ना वफा का जिकर होगा,
ना वफा कि बात होगी,
अब मोहब्बत जिससे भी होगी,
गेहूँ काटने के बाद होगी..।।


डिब्बे में डिब्बाडिब्बे में मेजपोश,
लड़की ने आंख मारी लड़का बेहोश।

Leave a Comment