153 Funny Shayari

राम – चांद पर पहला कदम किसने रखा था?
श्याम – निल आर्म स्ट्रॉन्ग ने.
राम – और दूसरा.?

श्याम – उसी ने ही रखा होगा न लंगड़ी खेलने थोड़ी न गया था….!


मंजिल उन्हीं को मिलती है,
जिनके हौसलों में जान होती है…
और बंद भट्ठी में भी दारू उन्हीं को मिलती है,
जिनकी भट्ठी में पहचान होती है! ? ?


इतिहास गवाह है लड़की की विदाई के समय इतना दुख उसके बाप को भी नहीं होता, जितना दुख आस-पड़ोस के लड़को को होता है!!


हमने चूम लिया जमीन को जहाँ पर उसने पैर रखे
और वो बेवफा हमारे घर आके बोली
चाची तुम्हारी बेटा मिटटी खाता है


समुन्दर से कह दो, अपनी लहरों को समेट के रखे,
ज़िन्दगी में तूफान लाने के लिए, घरवाली ही काफी है….!!!


किस-किस का नाम लें, अपनी बरबादी मेँ,
बहुत लोग आये थे दुआयेँ देने शादी मेँ


गर्लफ्रेड : अरे जानु कोई फनी शायरी
सुनाओ ना
बॉयफ्रेंड – डायन सा चेहरा तेरा
चूडेल सी तेरी मुस्कान है
रंग तेरा देख के
रूप तेरा देख के
भेंस भी हैरान है


इन अश्कों की आंखों से जुदाई कर देना,
अपने दिल से सारे गमो की जुदाई कर देना,
अगर फिर भी दिल न लगे जाने वफ़ा,
तो आकर मेरे घर की सफाई कर देना।


हसीनों के चेहरे पर हर लम्हा हर वक्त हंसी होती है,
हसीनों के चेहरे पर हर लम्हा हर वक्त हंसी होती है,
कमबख्त हमारा दिल भी ऐसी ही हसीना पर आता है,
जो पहले ही किसी कमबख्त से फंसी होती है।


बहुत खूबसूरत हो तुम फूल की तरह,
खुद को दुनिया कि नजर से बचाया करो,
सिर्फ आँखों में काजल ही काफी नहीं,
गले में नीम्बू-मिर्ची भी लटकाया करो।


शादी करने वाले क्यों फटे में पैर फँसाया,
बाजार में दूध क्या काम था
जो भैंस खरीद के लाया?


मैं और मेरी तन्हाई…
अक्सर ये बातें करते हैं,
तुम होती तो ऐसा होता…
तुम होती तो वैसा होता…
और अगर तुम न होती तो…
.
.
.
अपने पास भी पैसा होता।


देखा है तुम्हारे आगे,
शर्मा के फूलों को मुरझाते,
ए जहाँ को घायल करने वाले
तुम डिओडोरेंट क्यों नहीं लगाते।


सितारो मे आप, हवाओ मे आप,
फ़िज़ाओ मे आप,
बहारो मे आप,
धूप मे आप,
छावो मे आप,
सच ही सुना है की बुरी आत्माओ का कोई ठिकाना नही होता


ना समय है इतना कि सिलेबस पूरा किया जाए,
ना ही उपाय कोई कि पेपर पास किया जाए,
ना जाने कौन सा दर्द दिया है इस कमबख्त पढ़ाई ने,
ना ही रोया जाए और ना ही सोया जाए !!


चम चम करती चाँदनी
टिम टिम करते तारे..
कोई मेसेज़ नहि भेज रिया
गणपति जी बिठारे क्या सारे!!


मैंने पूछा उनसे, भुला दिया मुझको कैसे..?
चुटकियाँ बजा के वो बोली… ऐसे, ऐसे, ऐसे 😛


एक थी चाय एक था बिस्किट फिर मत पूछो क्या हुआ?
डूब गया बेचारा बिस्किट चाय के इश्क में..


मेरी सांसो में जो समाया बहुत लगता है,
वही शख्स मुझे पराया भी बहुत लगता है,
उनसे मिलने की तमन्ना तो बहुत है मगर,
आने-जाने में किराया बहुत लगता है।


चप्पल छोटी हो जाए तो पाँव में नहीं आती;
वाह वाह! चप्पल छोटी हो जाए तो पाँव में नहीं आती;
और गर्लफ्रेंड मोटी हो जाए तो बाहों में नहीं आती…


रिलेशनशिप वालो सब्र रखो…
भगवान ने चाहा तो धोका आपको भी मिलेगा हौसले वालों
😆😆😆😆😆😆😆😆😆


रोक दो मेरे जनाजे को अब मुझमे जान आ रही हैं… आगे से थोड़ा राईट ले लो दारु की दूकान आ रही हैं…!!


नखरे आपके तौबा-तौबा
गजब आपका स्टाईल है,
मेसेज तो आप कभी करते नहीं,
बस हल्ला मचा रखा है की..
हमारे पास भी मोबाईल है। ?


मैंने कहा दिलरुबा उसने कहा पैसे दिखा
मैं बोला पैसा नहीं है उसने कहा कैसे नहीं है
में कहा महेंगायी बहुत है उसने जा फिर तो मेरा भाई है


किसी से दिल लगाने से अच्छा है,
घर में झाड़ु पोछा लगा लो,
कम से कम मम्मी तो खुश हो जाएँगी………!!!


तेरी दुनिया में कोई गम न हो,
तेरी खुशियाँ कभी कम न हों,
भगवान तुझे ऐसी आइटम दे,
जो सनी लिओने से कम न हो


पत्नी की फनी शायरी मुशायरा
पति
हमें तो अपनों ने ही लूटा,
गैरों में कहां दम था;
हमारी कश्ती भी वहां डूबी,
जहां पानी कम था।
पत्नी
तुम तो थे ही गधे,
तुम्हारी अकल में कहां दम था;
वहां कश्ती लेके ही क्यों गए,
जहां पानी कम था


नजरों से नजरें मिलाकर तो देखो,
एक बार हमारे पास आकर तो देखो,
मिलना चाहेंगे सब लोग तुमसे,
एक बार मेरे दोस्त नहाकर तो देखो।


कदम -कदम पर हवा की आहट का ध्यान रखना,
मुश्किल समय में भी इस दोस्त को याद रखना,
हमारी यादों की खुशबू जरूर आएगी,
तुम बस अपनी नाक साफ़ रखना।


वो कहती है अपने भाइयों से
मेरे आशिक़ को यूँ न पीटो,
बड़ा ज़िद्दी है ये कमीना
इसे कुत्ते की तरह घसीटो।


जिनके घर शीशे के होते हैं… वो तो…
कहीं पर भी बैठ कर दाढ़ी बना लेते हैं।


ए गुलाब अपनी खुशबू को
मेरे दोस्तों पर न्योछावर कर दे,
यह सर्दी के मौसम में
अक्सर नहाया नहीं करते।


मजनू को लैला का SMS नही आया..
मजनू ने 3 दिन से खाना नहीं खाया..
मजनू मरने वाला था लैला के प्यार में
और लैला बेती थी SMS FREE होने के इंतेज़ार में..


किस-किस पर इलज़ाम लगाऊ,

अपनी बर्बादी में,

कि काफी लोग आये थे देने आशीष,

मुझे मेरी शादी में


“ये मोबाइल हमारा है
पतिदेव से भी प्यारा है”

उठते ही मोबाइल के दर्शन पहले पाऊ मै।
पति परमेशवर को ऐसे में बस भूल ही जाऊ मै।

मध्यम आंच पर चाय चड़ाऊ मै।
वोट्सअप को पढती जाऊ मै।

चाय उबल कर हो गई काडा।
चिल्ला रहे है पति देव हमारा।

कानो में है ईयरफ़ोन लगाया।
अब मैने फेसबुक है चलाया।

रोटी बनाने कि बारी आई।
दाल गैस पर चढा कर आई।

इतने में सखी का फ़ोन आया।
पार्टी का उसने संदेशा सुनाया।

करने लगी बाते मैं प्यारी।
इतने में भिन्डी हो गई करारी।

सासूजी चबा ना पाई।
मन ही मन वो खूब बडबड़ाई।

ससुर जी बैठे है बाथरूम में।
खत्म हो गया पानी टंकी में।

कैंडी-कृश गेम में उलझ गई थी मैं।
मोटर चालु करना ही भूल गई थी मैं।

ग्रुप कि एडमिन बन कर है नाम बहुत कमाया।
सबके घर की बहुओ को अपने ही साथ उलझाया।

बच्चो की मार्कशीट के मार्क्स ही ऐसे आए।
जो पति परमेश्वर के दिल को ना है भाए।

उसे देख पतिदेव ने सिंघम रूप बनाया।
“आता माझी सटकली” हमको है सुनाया

घर का बजा रहा है बाराह।
ऐसा है मोबाइल हमारा!!


होठों को छुआ उसने तो, एहसास अब तक है;
आंखे नम हुई तो सांसो में आग अब तक है;
वक़्त गुजर गया, पर उसकी याद नही गई;
क्या कहूं, “हरी मिर्च का स्वाद अब तक है!”


काश तुझे सर्दी में लगे मोहब्बत की ठंड!
और तू तड़प कर माँगे मुझे कम्बल की तरह!


वाह रे वाह मोदी जी
क्या दिमाग लगाया है काले धन का तो पता नहीं
पर घरो की औरतो के खजाने का तो पता चल ही जायेगा


इश्क करो वफ़ा करो और फिर भी वो भाव खाये तो उसे अपनी जिंदगी से दफा करो!


मोहब्बत हमने उसी दिन छोड़ दी थी ग़ालिब…
जब उसने कहा था कि……….
पप्पियों के पैसे अलग और झप्पियों के अलग.


मोहब्बत कर ली तुमसे बहुत सोचने के बाद,
अब किसी को देखना नहीं तुम्हे देखने के बाद,
दुनिया छोड़ देंगे तुम्हे पाने के बाद,
खुदा माफ़ करे इतना झूट बुलवाने के बाद


तेरे हाथ का जला हुआ भात भी खा लेंगे
और प्यार किया है तो मात भी खा लेंगे
हम पुरुष है समझते है परिस्तिति को
दूध वाली गाय की लात भी खा लेंगे
😆😆😆😆😆😆😆😆😆


बोतल छुपा दो कफन में मेरे, शमशान में पिया करूंगा.. जब खुदा मांगेगा हिसाब, तो पैग बना कर दिया करूंगा…!!


जुल्फों में फूलों को सजा के आयी,
चेहरे से दुपट्टा उठा के आयी,
किसी ने पूछा आज बड़ी खुबसूरत लग रही है,
हमने कहा शायद आज नहा के आयी! ?


चूहे को लगी बिल्ली गोरी गोरी
दोनों मिलने लगे चोरी चोरी
चूहा बुलाया आओ खेलें आँख मिचोली
बिल्ली चूहे को खा कर बोली. jaanu sorry
i hate love story


दिली तमन्ना है कि मैं भी अपनी पलकों पे बैठाऊँ तुझको,
बस तू अपना वजन कम करले, तो मेरा काम आसान हो जाए……..!!!


जब सफेद साड़ी पे लाल बिंदी लगाती हो
कसम से एम्बुलेंस नजर आती हो
वो तो घायलों को लेकर जाती है
और तुम घायल कर के जाती हो.


पलट दूँगा सारी दुनिया मैं ए खुदा

बस रजाई में से निकलने की ताकत दे दे


उन्होंने आज हम पर तिरछी नज़र डाली
तो हम मदहोश हो गए
बाद में पता चला नज़र ही तिरछी है
तो हम बेहोश हो गए।


नज़रें मिली तो ख्यालात खो गए,
नज़रें झुकी तो सवालात हो गए,
और इतना घुमाया उसे प्यार में,
शॉपिंग कराते कराते कंगाल हो गए।


हम उसके इश्क में
इस कदर चोट खाए हुए हैं,
कल उसके बाप ने मारा था
आज भाई आये हुए हैं।


न छेड़ा करो बात बात पे एडमिन को यारो,
सर-ए-ग्रुप उसकी बेईज्जती खराब होती है।


मेरे प्यार को बेवफाई का इनाम दे गई,
मेरे दिल को अपनी यादों का पैगाम दे गई,
मैंने कहा मेरे दिल में दर्द है तेरे बिना,
तो वो जाते-जाते “झंडूबाम” दे गई।


अजब सी हालत है तेरे जाने के बाद,
मुझे भूख लगती नहीं खाना खाने के बाद,
मेरे पास दो ही समोसे थे जो मैंने खा लिए,
एक तेरे आने से पहले, एक तेरे जाने के बाद।


पागल हे वो लोग जो अपने लवर को मिस किया करते हे
अरे!! मिस करना हे तो मच्छर को करो
जो अपनी जान पर खेल कर आप को किस किया करते हे|


जैसे ही पड़ी उनकी तिरछी निगाहें मुझपर, मैं मदहोश हो गया,
फिर पता चला कि उनकी निगाहें ही तिरछी हैं, मैं बेहोश हो गया।


शायर घर मे पत्नी के साथ बैठा है,
तभी प्रेमिका का मिसकॉल आता हैं..

शायर का प्रेमिका को शायरी में जवाब:

हवा की लहरें बनके मेरी खिड़की मत खटखटा,
मैें बंद खिड़की में बवंडर संभाल के बैठा हूँ
#घरवाली-बाहरवाली


तुझसे कैसे नज़र मिलाएं दिलबर जानी!
तेरी दायीं आँख कानी मेरी बायीं आँख कानी!


10 और 20 व 50 के नोट के दादाजी व
100 के नोट के पुज्य पिताजी श्री 500 के व 1000 के नोट का अभी अभी निधन हो गया है ।
वे कालेधन के मुख्य संगठक थे वही धन्नासेठो के मसीहा थे ।
अंतिम यात्रा कल 8 तथा उठावना 11 को होगा ।


आँखो से आँखे मिलाकर तो देखो,

एक बार हमारे पास आकर तो देखो,

मिलना चाहेंगे सब लोग तुमसे,

एक बार मेरे दोस्त साबुन से नहाकर तो देखो।


आँखों से आसुओं की विदाई कर दो,
दिल से ग़मों की जुदाई कर दो,
अगर फिर भी दिल न लगे कही,
तो मेरे घर की पुताई कर दो…।


जब देखा उन्होंने तिरछी नजर से,
कसम खुदा की मदहोश हो गए हम,
जब पता चला नजर ही तिरछी है,
तो वही खड़े-खड़े बेहोश हो गए हम।


पता नहीं मम्मी की बहू ने
मास्क लगाया होगा के नहीं … #Corona_Jokes


हमने पटाई एक लड़की तो सोचा हमारी लोटरी निकल गई, डेट पर बुलाया मिलने को तो हाय! रे फूटी किस्मत, वो राखी बांध के चली गई….


परेशान पति का कोई मज़हब नहीं होता,
वो मन्दिर भी जाता है और मस्जिद भी………!!!


तेरी दुनिया में कोई गम ना हो
तेरी खुशियाँ कभी कम न हो
भगवान तुझे ऐसी आइटम दे
जो सनी लिओनी से कम ना हो.


पति – मुझे अजीब सी बीमारी हुई है
मेरी बीवी जब बोलती है तो मुझे सुनाई नहीं देता
हकीम – माशाल्लाह ये बीमारी नहीं
ये तुम पर खुदा की रहमत


उनकी मुस्कान तो एक अदा है,
जो उसे प्यार समझे वो सबसे बड़ा गधा है।


खयाल को आहट की आस रहती है,
निगाह को किसी सूरत की तलाश रहती है,
तेरे बिन कोई कमी नहीं है ऐ दोस्त,
बस गली वाली जमादारनी उदास रहती है।


जब कोई ज़िन्दगी में बहुत ख़ास बन जाए,
उसके बारे में सोचना ही उसका एहसास बन जाए,
तो मांग लेना खुदा से उसे जिंदगी भर के लिए,
इस से पहले की उसकी माँ किसी और की सास बन जाए।


कभी हौसले भी आजमा लेना चाहिए,
बुरे वक़्त में मुस्कुरा लेना चाहिए,
अगर सातवें दिन भी खुजली न मिटे,
तो आठवें दिन नहा लेना चाहिए।


दिल में कोई गम नहीं बातों में कोई दम नहीं,
ये ग्रुप है नवाबो का यहाँ कोई किसीसे कम नहीं।


यारो मेरे मरने के बाद आँसू मत बहाना,
ज़्यादा याद आए तो उपर ही चले आना।


ताजमहल किसी के लिए एक अजूबा है,
तो किसी के लिए प्यार का एहसास है,
हमारे तुम्हारे लिए तो बकवास है,
क्यूँ की की रोज़ बदलती हमारी मुम्ताज़ है।


तुम आये तो लगा हर खुशी आ गई
यू लगा जैसे ज़िन्दगी आ गई
था जिस घड़ी का मुझे कब से इंतज़ार
अचानक वो मेरे करीब आ गई …………


पहली बार किसी को देखकर हमारी निगाह ठहरी है,
क्या करू यारों उसकी आँखें सागर से भी गहरी है,
थक चुके हैं हम अपना इज़हार-ए-मोहब्बत करते करते,
अब जाकर पता चला की वो तो बहरी है।


मस्ती भरी मजेदार हिन्दी शायरी

इतने कमज़ोर हुए तेरी जुदाई में;
जर्रा गौर फर्रमाँइए:
इतने कमज़ोर हुए तेरी जुदाई में;
कि चींटी भी अब खींच ले जाती है ‘चारपाई’ से!


तेरे इश्क ने सरकारी दफ्तर बना दिया दिल को!
ना कोई काम करता है, ना कोई बात सुनता है!


मोहब्बत में जब मुझे धोखा मिला
तो ज़िन्दगी में चारो ओर उदासी छा गयी
सोचा था की आग लगा दूंगा इस दुनिया को
पर कम्भख्त कॉलोनी में दूसरी आ गयी


ना तलवार की धार से ना गोलियों की बौछार से,
बंदा डरता है तो सिर्फ अपने बाप की मार से।


ये बारिश का मौसम बहुत तड़पाता है,
वो बस मुझे ही दिल से चाहता है,
लेकिन वो मिलने आए भी तो कैसे…?
उनके पास फटा हुआ छाता है……..!!!!!


सफ़र लंबा है दोस्त बनाते रहिये,
दिल मिले न मिले हाथ बढ़ाते रहिये,
ताज महल न बनाइये महगा पड़ेगा,
मगर हर तरफ मुमताज बनाते रहिये।


हम दिलफेक आशिक़ हर काम में कमाल कर दे,
जो वादा करे वो पूरा हर हाल में कर दे,
क्या जरुरत है लड़कियों को लिपस्टिक लगाने की,
हम चूम-चूम के ही होंठ लाल कर दें।


तुम कोरोना भी होती तो भी मैं..!!

तुम्हारी चपेट में खुशी खुशी आ जाता… #Corona_Jokes


हर गली फूलों से सजा रखी है, हर चोक पर लड़कियाॅं बैठा रखी हैं, जाने किस गली से गुजरेंगे आप, हर लड़की के साथ में राखी थमा रखी है!


और भी चीजें बहुत सी लुट चुकी है दिल के साथ
ये बताया दोस्तों ने इश्क फरमाने के बाद
इसलिए कमरे की एक एक चीज़ चेक करता हूँ
एक तेरे आने से पहले एक तेरे जाने के बाद


किस किस का नाम लें, अपनी बरबादी में,
बहुत लोग आये थे दुआए देने शादी में…….!!!


न जाने कब कोई अपना रुठ जाये
न जाने कबकोई अश्क आँखों से छूटजाये
कुछ पल हमारे साथभी मुस्कुरा लिया करो ऐ दोस्त
न जाने कब तुम्हारे दांत टूटजाये


मोहब्बत के चर्चे बहुत हैं यारों,
हुस्न के पर्चे बहुत है यारों,
मोहब्बत करने से पहले सोच लेना,
क्योंकि इसमें खर्चे बहुत है यारों।


तेरी अदाओं का जादू इस शेर में लिखता हूँ,
तेरी अदाओं का जादू इस शेर में लिखता हूँ,
मदहोश हूँ अभी…
थोड़ी देर में लिखता हूँ।


रंग और नूर से भरी शाम हो आपकी,
चाँद सितारों से ज्यादा शान हो आपकी,
खुदा से बस यही दुआ है हमारी,
कि बंदर से ऊँची छलांग हो आपकी।


अर्ज किया है…
तेरे चेहरे पर उदासी, आँखों में नमी है,
तेरे चेहरे पर उदासी, आँखों में नमी है,
टाटा नमक इस्तेमाल करो,
क्योंकि तुम में आयोडीन की कमी है।


उसी दिन से व्हाट्सएप्प से नफरत हो गयी ग़ालिब,
जब बाल कटवाने के लिए एडमिन ने चंदा माँग लिया।


जिनको हम चुनते हैं, वो ही हमें धुनते हैं,
चाहे बीवी हो या नेता, दोनों कहाँ सुनते हैं!!


मेरी प्रेम कहानी का क्या अजीब एंडिंग था,
मेरी प्रेम कहानी का क्या अजीब एंडिंग था,
मैंने प्रोपोज़ किआ SMS से,
कमबख्त वह उसकी शादी तक पेंडिंग था।


जिस हॉस्पिटल के हम डॉक्टर हैं,
हमारी पत्नी वहा की नर्स हैं
क्या अजीब ज़ुल्म सहना पड़ता हैं
अपनी ही बीवी को सिस्टर कहना पड़ता हें


कुछ तो था उनके लबों पर जो वो हमें देखकर बड़बड़ाती थी,
फिर पता चला एक दिन कि वो तो गुटखा चबाती थी


दिल की तमन्ना है कि तुझे 😃पलकों पे बिठाऊँ……

.
.
.
.
.
.

पर तु 72 किलो की है
दिल को कैसे समझाऊं…….!! !😨


उसने हाथों पर मेहंदी लगा रखी थी;
हमने भी अपनी बारात सजा रखी थी;
क्यूंकि हमें मालूम था वो बेवफा निकलेगी;
इसलिए हमने भी उसकी सहेली पटा रखी थी!


कैसे मुमकिन था किसी दवा से इलाज़!
इश्क का रोग था माँ की चप्पल से ही आराम आया!


कोई तोह बेवफाओं पे भी tax लगा दो यारों…..
हम आशिको का भी थोड़ा मुनाफा बढा दो यारों
किसी की तो चार चार हैं और किसी की एक भी नहीं
इश्क को भी अब आधार कार्ड से लिंक करा दो य़ारो


न चांद होगा ना तारे होंगे,
क्या हम इस साल भी कुंवारे होंगे ,
इस दुनिया में कितनों के निकाह हो गए ,
क्या हमारे नसीब में सिर्फ निकाह के छुहारे होंगे।


चिरागों में इतना नूर ना होता,
तो तनहा दिल मजबूर ना होता,
हम आपसे मिलने जरूर आते,
अगर आपका घर इतना दूर ना होता।


Dhoka मिला जब Pyaar में,
Zindagi में उदासी छा गई,
सोचा था आग लगा देंगे इस Duniya को,
तो कम्बख्त Colony में दूसरी आ गयी।


जो लड़के ठीक से अपने जूते का फीता नही बांध पाते…
वो अपनी girlfriend से कहते है कोई परेशानी हो तो हमे बताना।।


अर्ज़ किया है कि… आपकी स्माईल ने सारा जहाॅं हिला दिया, आपकी स्माईल ने सारा जहाॅं हिला दिया, कोमा से जगे मरीज को परमानेंट सुला दिया!


ये जो लड़कियों के बाल होते हैं,
लड़कों को फ़साने के जाल होते हैं,
खून चूस लेती हैं लड़कों का सारा,
तभी तो इनके होंठ लाल होते हैं?


आपकी याद में एक शायर अर्ज़ किया है
आज है मंगल कल था पीर-वह-वह
कभी तो कुछ भेजा कर फकीर


जिस तरह से पेड़ काटे जा रहे हैं,
वो दिन ज्यादा दूर नही जब,
‘हरियाली’ के नाम पर सिर्फ ‘लड़कियां’ रह जायेगीं………!!!


आज तुम पे आँसुओं की बरसात होगी
फिर वही कडकती काली रात होगी
एस.एम.एस. न करके तूने जो दिल दुखाया मेरा
जा तेरे बदन में खुजली सारी रात होगी.


पुराने जमाने में जब कोई अकेला बैठकर हंसता था😝😝
, तो लोग कहते थे… कि इसपर कोई भूत- प्रेत का सांया है..!!
आज कोई अकेले में बैठकर हंसता है तो कहते हैं…
मुझे भी SEND कर दे


हमने तो चारो तरफ पढ़ाई का माहौल बनाया है,
लेकिन फिर भी एग्जाम में अंडा ही आया है,
हम तो यूँ ही चल देते हैं बिना मुंह धोये ही एग्जाम में,
साले दोस्त कहते हैं ये तो बहुत पड़के आया है।


हम भी जानेमन तेरे लिए ताजमहल बनायेंगे,
अर्ज़ किया है….
हम भी जानेमन तेरे लिए ताजमहल बनायेंगे,
एक कप सुबह एक कप शाम को पिलायेंगे।


न वफ़ा का ज़िक्र होगा,
न वफ़ा की बात होगी,
अब मोहब्बत जिस से भी होगी,
राखी के बाद होगी।


जिसे कोयल समझा वो कौवा निकला,
दोस्ती के नाम पर हौवा निकला,
जो रोकते थे हमें शराब पीने से,
आज उन्हीं की जेब में पौवा निकला।


ज़िन्दगी में सदा मुस्कराते रहो,
फासले कम करो दिल से दिल मिलाते रहो,
दर्द कैसा भी हो कोई ग़म न करो,
आयोडेक्स खरीदो और लगाते रहो।


न तू छत पे आती न मैं दीवाना होता,
न तू पत्थर मारती न मैं काना होता।


आँखों से बरसात होती हैं
जब आपकी याद साथ होती है,
जब भी busy रहे मेरा cell
तो समझ लेना
आपकी होने वाली भाभी से मेरी बात होती हैं


वो फ़र्श की धूल पे पड़े
चंद पैरों के निशान

वो चाय के
दो सूखे कप

वो ख़ामोश
दाल के सूखे बर्तन

वो सूखी पड़ी
चाय की पत्ती से भरी
बेजान छन्नी.

इसका अर्थ है
कि..

आज
👩‍🍳कामवाली नहीं आई

हर समय गुलज़ार साहब ही नहीं आते!!


हर गम को पाला नही जाता;
काँच की चीज़ों को उछाला नही जाता;
कुछ करना है तो मेहनत करो;
हर बात को ‘ऑल इस वेल’ कहकर टाला नही जाता!


लैला की शादी में एक लफड़ा हो गया!
मजनू इतना नाचा कि लँगड़ा हो गया!


पेशे से तो छात्र था.. अब Shayar हूँ
तुम्हे समझ सकता इस Layak हूँ
तुम्हारे लिए कितने ही झूठ बोले,
ज़रा सोचो कितना बड़ा Liar हूँ
पर तुम्हे समझ ना सका
Don’t you think कितना Nalayak हूँ


काश प्यार का इन्शुरन्स हो जाता,

प्यार करने से पहले प्रीमियम भरवाया जाता.

प्यार में वफ़ा मिली तो ठीक वर्ना,

बेवफाओं पे जो खर्चा होता उसका क्लेम तो मिल जाता।


कभी तो आएगी बेवफा मेरी कब्र पर
टांग पकड़ कर अंदर ना खींच लिया तो कहना


Pyaar की हर गली गुमनाम Kyu हैं,
Mohabbat का अंजाम जुदाई और मौत Kyu हैं।
लोग देते हैं इसे Naam खुद का,
तो फिर ये Munni इतनी बदनाम Kyu हैं।


सुनो, प्यार तो एकतरफा भी कर लेंगे हम।
पर झगड़ा करने के लिए जरूरत पड़ेगी तुम्हारी


दिल मेरा टूटा था, की थी उसने जुदाई,
अब तो झोला उठाकर चल देता हूँ देखने जेसीबी की खुदाई!!


इश्क़ में ये अंजाम पाया है,
हाथ पैर टूटे, मुँह से खून आया है,
हॉस्पिटल पहुंचे तो नर्स ने फ़रमाया..
बहारों फूल बरसाओ, किसी का आशिक़ आया है! 😀


कैसे मुमकिन था किसी डॉक्टर से इलाज करना
अरे दोस्त…. इश्क का रोग था…
मम्मी के चप्पल से ही आराम आया……!!!


टीचर- बच्चो सब अपना अपना नाम और पसन्द बताओ
1 लङका- हमार नाम छोटू है हमका जिलेबी पसन्द है
2 लङका- हमार नाम गोलू है हमका भी जिलेबी पसन्द है
3 लङका- हमर नाम मोनू है हमका भी जिलेबी पसन्द है
टीचर- सबकी पसन्द एक है बहुत अच्छा
टीचर- लङकी तुम्हारा नाम
लङकी- हमारा नाम जिलेबी है


लैला की शादी में एक लफड़ा हो गया,
मजनू इतना नाचा कि लँगड़ा हो गया।


तुम्हारी शायरी बड़ी है फाइरी,
तुम्हारी शायरी बड़ी है फाइरी,
दिल करता है जल जाये
तुम्हारी शायरी वाली डायरी।


तेरा प्यार पाने के लिए
मैंने कितना इंतज़ार किया,
और उस इंतज़ार में न जाने
कितनों से प्यार किया।


वो केहेती है तुमको तो कोई भी लड़की पसंद करेगी कहो तो मैं पटा दूँ , मैंने कहा तुम ही पट जाओ तो बोलती है भैया को बता दूँ।


जब जब घिरे बादल तेरी याद आई
जब झूम के बरसा सावन तेरी याद आई
जब जब मैं भीगा मुझे तेरी याद आई
मेरे भाई तूने मेरी छतरी करूं नहीं लौटाई


टीचर इतने दिनों से कहां थे
पप्पू सर बर्ड फ्लू हो गया था।
टीचर लेकिन यह तो बर्ड्स को होता है, तुम्हें कैसे हुआ
पप्पू गुस्से में आपने इंसान समझा ही कब है रोजाना मुर्गा बनाते हो


जाने वो कब हमारी तक़दीर हो गए,
उनकी याद में हमने इतनी पी ली कि हम फ़क़ीर हो गए।


तेरे प्यार की रौशनी ऐसी हे की हर तरफ उजाला नज़र आता हे
सोचती हु घर के बिजली कटवा दू कमबख्त बिल बहोत आता हे


बेझिझक मुस्कुराये जो भी गम है,
जिंदगी में टेंशन किसको कम है,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
जिंदगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।


एक पत्नी के सुविचार:

काश तुम अदरक होते…
कसम से, जी भर के कूटती !!


वो मेरी किस्मत मेरी तकदीर हो गयी;
हमने उनकी याद में इतने ख़त लिखे कि;
वह ‘रद्दी’ बेचकर ही अमीर हो गयी!


सभंल कर करो बात वरना बहुत दूर तक जाएगी
एक बार हां कर दो मेरी जान वरना बहुत देर हो जायगी


इस दुनिया में लाखों लोग रहते हैं,
कोई हँसता है तो कोई रोता है,
पर सबसे सुखी वही होता है,
जो शाम को दो पैग मार के सोता है।


दिल मेरा टूटा था,
की थी उसने जुदाई,
अब तो झोला उठाकर
चल देता हूँ देखने जेसीबी की खुदाई!! – Mirza Ghalib


आप मुस्कुराते भी खूब हो फिर,
आप दूसरा शर्माते भी खूब हो.
दिल तो चाहता है आपको दावत पे बुलाऊ,
मगर सुना है आप खाते भी खूब हो.


काश प्यार का इन्शुरन्स हो जाता,
प्यार करने से पहले प्रीमियम भरवाया जाता.
प्यार में वफ़ा मिली तो ठीक वर्ना,
बेवफाओं पे जो खर्चा होता उसका क्लेम तो मिल जाता।


फिजाओं के बदलने का इंतज़ार मत कर
आँधियों के रुकने का इंतज़ार मत कर
पकड़ किसी को और फरार हो जा
पापा की पसंद का इंतज़ार मत कर


अपनी सूरत का कभी तो दीदार दे
तड़प रहा हूँ अब और न इंतज़ार दे
अपनी आवाज नहीं सुनानी तो मत सुना
कम से कम एक मिस काल ही मार दे.


हमने तो तेरे इश्क़ में रो रो कर दरिया बहा दिए,
तू इतना बेवफा निकला कि हम उस दरिया में नहा लिए।


दुनिया में ऐसी कोई ठंड नहीं बनी;
जो शादी में आई हुई लड़कियों को लग सके,
आप अंटार्टिका में भी शादी करेंगे तो भी
ये शॉल या स्वेटर नहीं पहन के आएंगे..


किसी का हाथ थाम के छोड़ना नहीं,
वादा किसी से कर के तोड़ना नहीं,
कोई अगर तोड़ दे दिल आपका तो,
बिना हाथ पैर तोड़े उसे छोड़ना नहीं।


इस दुनिया में लाखों लोग रहते हैं,
कोई हँसता है तो कोई रोता है,
पर सबसे सुखी वही होता है,
जो शाम को दो पैग मार के सोता है


अर्ज किया है…
वो तुम्हें Dp दिखाकर गुमराह करेगी,
मगर तुम आधार कार्ड पर अड़े रहना

Leave a Comment