52 Good Night Shayari

cat_default

क़हर है तेरी जुदाई…पर अपना दिल भी अब पत्थर हो चला है.. जिगर है छलनी-छलनी… आँखें लहू-लहू हैं,#तेरी जुदाई ने मुझे इस कदर तबाह कर दिया। जब वादा किया है तो निभाएंगे; सूरज किरण बन कर छत पर आएंगे; हम हैं तो जुदाई का ग़म कैसा; तेरी हर सुबह को फूलों से सजाएंगे जुदाइयों के …

Read more