Judai Shayari



Read, Record and share Judai Shayari to your love

गज़ल में गीत में दोहे में और रुबाई में,

कहां कहां नही ढूंढा तुझे जुदाई में ।।

Record & Share

आओ किसी शब मुझे टूट के बिखरता देखो,
मेरी रगों में ज़हर जुदाई का उतरता देखो,
किन किन अदाओं से तुम्हें माँगा है खुदा से,
आओ कभी मुझे सजदों में सिसकता देखो।

Record & Share

तेरी जुदाई भी हमें प्यार करती है,

तेरी याद बहुत बेकरार करती है,

वह दिन जो तेरे साथ गुज़ारे थे,

नज़रें तलाश उनको बार-बार करती हैं.

Record & Share

जब वादा किया है तो निभाएंगे;
सूरज किरण बन कर छत पर आएंगे;
हम हैं तो जुदाई का ग़म कैसा;
तेरी हर सुबह को फूलों से सजाएंगे

Record & Share

आ की तुझ बिन इस तरह ऐ दोस्त घबराता हूँ मैं,
जैसे हर शै में किसी शै की कमी पाता हूँ मैं।

Record & Share

जिगर है छलनी-छलनी आँखें लहू-लहू हैं ……..
तेरी जुदाई ने मेरी रूह को यूँ तबाह कर दिया …….

Record & Share

मेरे लफ़्ज़ों से न कर मेरे क़िरदार का फ़ैसला।।
तेरा वज़ूद मिट जायेगा मेरी हकीक़त ढूंढ़ते ढूंढ़ते।।

Record & Share

बेताब मै ही नही दर्द-ए-जुदाई की कसम,
रोते तुम भी होंगे करवट बदल बदलकर

Record & Share

न जाने क्यूँ कहते हैं लोग
हमें जुदाई का गम मार गया
हम तो हर वक्त उनकी यादों में कैद हैं
कौन कहता हैं वो हमसे जुदा हो गया

Record & Share

कितना भी चाहो ना भूल पाओगे हमें
जितनी दूर जाओगे नजदीक पाओगे हमें
मिटा सकते हो तो मिटा दो यादें मेरी
मगर क्या सांसो से भी जुदा कर पाओगे हमें

Record & Share

जो मेरा था वो मेरा हो नहीं पाया,
आँखों में आंसू भरे थे पर मैं रो नहीं पाया,
एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि,
हम मिलेंगे ख़्वाबों में पर मेरी बदकिस्मती तो देखिये,
उस रात तो मैं ख़ुशी के मारे सो भी नहीं पाया।

Record & Share

हर मुलाकात का अंजाम जुदाई क्यों है
अब तो हर वक़्त यही बात सताती है हमे

Record & Share

थोड़ा अकेले जिया जाये
दिल दुखाने वालो से
थोड़ा किनारा किया जाये

Record & Share

अब के हम बिछड़े तो शायद कभी ख़्वाबों में मिलें
जिस तरह सूखे हुए फूल किताबों में मिलें

Record & Share

क़हर है तेरी जुदाई…
पर अपना दिल भी अब पत्थर हो चला है..

Record & Share

सब के होते हुए भी तन्हाई मिलती है,
यादों में भी गम की परछाई मिलती है,
जितनी भी दुआ करते हैं किसी को पाने की,
उतनी ही ज्यादा जुदाई मिलती है।

Record & Share

उनकी नज़रों से दूर हो जायेंगे हम
कहीं दूर फ़िज़ाओं में खो जायेंगे हम
मेरी यादों से लिपट के रोयेंगे वो
ज़मीन ओढ के जब सो जायेंगे हम

Record & Share

आपकी आहट दिल को बेकरार करती है,
नज़र तलाश आपको बार-बार करती है,
गिला नहीं जो हम हैं इतने दूर आपसे,
हमारी तो जुदाई भी आपसे प्यार करती है।

Record & Share

जिगर है छलनी-छलनी... आँखें लहू-लहू हैं,
#तेरी जुदाई ने मुझे इस कदर तबाह कर दिया।

Record & Share

दिल से निकली ही नहीं शाम जुदाई वाली,
तुम तो कहते थे बुरा वक़्त गुज़र जाता है।

Record & Share

तेरी जुदाई भी हमें प्यार करती है,
तेरी याद बहुत बेकरार करती है,
वह दिन जो तेरे साथ गुज़ारे थे,
नज़रें तलाश उनको बार-बार करती हैं.

Record & Share